Saturday, June 16, 2007

नारद को पूरा हक है।

मेरे अपने और विचार टाइप करने मे थोड़ा समय लगेगा, कोशिश करता हूँ जल्दी हो जाय।

4 comments:

Sagar Chand Nahar said...

बस एक ही वाक्य में बात कह दी आपने? बधाई :)

RC Mishra said...

सागर भाई अभी और भी वाक्य हैं।

मेरा ई पन्ना said...

बिना लिखे बधाई तो मिल गयी आपको पर फिर भी इंतज़ार करेंगे आपके विचारो का कि ऊँट किस करवट बैठेगा :)

Pratik said...

लगता है सागर जी आगे लम्बी-चौड़ी पोस्ट पढ़ने से बचना चाहते हैं, इसलिए एक पंक्ति में ही निपटाना चाह रहे हैं। :)