Thursday, March 22, 2007

Blogger Conference Noida - 18th, March 2007

साथियों नमस्कार, हिन्दी चिट्ठाकार सम्मेलन नोयडा, मार्च १८,  २००७ के लो-टेक (कम तकनीकी; High Tech Version यहाँ पर है) संस्करण के साथ मै आपके समक्ष हूँ।

इस Low-Tech Version  मे आप के लिये है...
  • हिन्दी चिट्ठाकार को आवाज से पहचानते और धोखा खाते....RC Mishra.
  • 'Host Channel' से हारे हुए खेल की तात्कालिक Reports....उनके अपने Commercial Break के साथ.
  • चिट्ठा शुरू करके, बन्द करके, फ़िर शुरू करने वाले चिट्ठाकार की अभिलाषा.
  • मुखौटा लगाकर, दिल खोलकर; मिलने और लिखने वाले चिट्ठाकार के अनकहे सवाल.
  • ताज़े बने पास्ता की भेजी जा रही महक न स्वीकार करके......तस्वीर देखने का इसरार करते हमारे अमित गुप्ता जी। (उनके लिये खास..'पास्ता' की तस्वीरें)
  • कभी मक्खन लगाते और कभी टांग खीन्चते..साथी चिट्ठाकार..
  • सुनने को... किसका विश्वास बरकरार न रह सका.
  • Word-Cup Cricket  से सम्बन्धित कुछ Records
  • जीतू भाई द्वारा नामांकित बढि़या वाले टाकीज़ से सम्बन्धित तथ्य.
  • मुरैना के भुवनेश का, सम्मेलन मे स्वागत.
  • और अन्त मे चर्चा कन्या पुराण पर।

सुनने के लिये आपके पास तीन विकल्प हैं

१. अमित के सौजन्य से Flash MP3 Player पर.



Download

 

२. आपके अपने MP3 Player द्वारा.

 




३. Download करके सुनने के लिये .AMR file (१.०२ MB)

.MP3, 4.54 MB




7 comments:

Udan Tashtari said...

बहुत खूब मिश्र जी. पंक्ति में प्रथम होने की बहुत बधाई. हमारा पास्ता भी धरे रहें , एक दिन ज्ररुर खाया जायेगा. :) बहुत बढ़िया कदम. सबको बधाई!!

Srijan Shilpi said...

उस दिन की हमारी यादगार बातचीत को सबके साथ साझा करने के लिए धन्यवाद।

हिन्दी में पॉडकॉस्ट के सफल प्रयोगों की दिशा में यह एक और महत्वपूर्ण कदम है। ब्लॉगनाद, खुशी की पॉडकास्टिंग और अब आपके एवं अमित के प्रयोग.....

*इकरार - इसरार

RC Mishra said...

समीर जी आप आइये तो, आपके लिये धरा हुआ नही, बल्कि ताज़ा बना कर खिलायेन्गे। सृजन शिल्पी जी,त्रुटि पर ध्यन दिलाने के लिये धन्यवाद।

SHUAIB said...

मुलाक़ात को बहुत ख़ूबसूरत दिया है आपने, बधाई

Amit said...

चलो आखिरकार आपने इसको डाला तो, सही है। :)

नीरज दीवान said...

पास्ता, टाकीज़, कन्या और मैच यह सब मिलाकर तो आपने भेलपुरी बना दिया है. कहीं भी रहो दादा.. लेकिन भेलपुरी वाला भारत याद रहता ही है.

यह मुलाक़ात शानदार रही.. आगे और भी बढ़िया मुलाक़ातें होती रहेंगी. ख़बर चिपकाने के लिए धन्यवाद..

Dawn said...

Mishra ji aapka bahut bahut shukriya jo aap hamare yahan bahut dino baad hee sahi tashreef to laaye :) accha laga aapka comment dekh kar!
aate rahiyega!
Conference ke baare mein parhkar waqai bahut accha laga...aapko bahut bahut shubhkamnayein!

duaon mein yaad rakhiyega
dhanyawaad