Wednesday, April 05, 2006

चाँद

रोहित के ब्लाग कुछ सच्चे मोती से। आशा करते हैं कि नारद मुनि सुन रहे हैं।

1 comment:

Raman Kaul said...

नारद जी तो सर्वव्यापी हैं, सुन ही लेंगे। पर अब भक्तजनों को स्वयं शरण में जाना चाहिए।